/
/
/
/
/
/
/
/

प्रकृति संरक्षण को समर्पित एकमात्र पत्रिका आम आदमी की भाषा में
पर्यावरण कानून
बिल्डरों की परियोजना होगी सील
(01-03-2015)

राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल) ने नोयडा प्राधिकरण, नई दिल्ली को चेतावनी दी है कि सभी बिल्डर्स की परियोजना को सील कर दिया जावेगा। यदि उन्होंने प्रदाय किए गए जल के उपयोग एवं जलीय अपशिष्ट का विवरण जल्द से जल्द नहीं दिया।
2 फरवरी 2015 को सुनवाई में नोयडा प्राधिकरण से उपरोक्त विवरण देने का निर्देशित किया। न्यायमूर्ति स्वतंत्र कुमार ने कहा कि हमें बिल्डरों के सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट से प्रदाय किए गए जल का विस्तृत विवरण चाहिए। प्राधिकरण को विस्तृत एवं सटीक विवरण प्रस्तुत करना होगा, ताकि न्यायालय नोयडा में चल रही परियोजना में बिल्डरों के जल की आवश्यकता का आंकलन कर सकें। यदि प्राधिकरण ऐसा करने में असमर्थ रहता है तो न्यायालय सभी बिल्डरों की परियोजनाओं, जो जल उपभोग नियमों का पालन नहीं कर रहे, उन्हें सील करने की कार्यवाही करने में नहीं झिझकेगा।
यह आदेश विक्रांत तोंगड विरूद्ध प्राधिकरण के ग्रेटर नोयडा में कंस्ट्रक्शन परियोजनाओं में ग्राउंड वाटर के उपयोग के बारे में दाखिल प्रकरण की सुनवाई के दौरान दिया गया।

लेख पर अपने विचार लिखें ( 0 )                                                                                                                                                                     
 

भारत के समाचार पत्रों के पंजीयक कार्यालय की पंजीयन संख्या( आर. एन. आर्इ. नं.) : 7087498, डाक पंजीयन : छ.ग./ रायपुर संभाग / 26 / 2012-14
संपादक - ललित कुमार सिंघानिया, संयुक्त संपादक - रविन्द्र गिन्नौरे, सह संपादक - उत्तम सिंह गहरवार, सलाहकार - डा. सुरेन्द्र पाठक, महाप्रबंधक - राजकुमार शुक्ला, विज्ञापन एवं प्रसार - देवराज सिंह चौहान, लेआउट एवं डिजाइनिंग -उत्तम सिंह गहरवार, विकाष ठाकुर
स्वामित्व, मुद्रक एवं प्रकाषक : एनवायरमेंट एनर्जी फाउडेषन, 28 कालेज रोड, चौबे कालोनी, रायपुर (छ.ग.) के स्वामित्व में प्रकाषित, महावीर आफसेट प्रिंटर्स, रायपुर से मुदि्रत, संपादक - ललित कुमार सिंघानिया, 205, समता कालोनी, रायपुर रायपुर (छ.ग.)

COPYRIGHT © BY PARYAVARAN URJA TIMES
DEVELOPED BY CREATIVE IT MEDIA