/
/
/
/
/
/
/
/

प्रकृति संरक्षण को समर्पित एकमात्र पत्रिका आम आदमी की भाषा में
शोध
वीडियो से सीखते बंदर
(01-02-2015)

मार्मोसेट (एक प्रकार का बंदर) पर किए गए अध्ययन से पता चला है कि वह केवल अपने परिवार के लोगों से ही नहीं सीखता, बल्कि वीडियो या स्क्रीन पर दिखाई देने वाले पात्रों से भी सीखता है। जंगली जीवों के व्यवहार को जानने के लिए इस तरह का वीडियो अध्ययन पहली बार किया गया है। आस्ट्रिया के विएना विश्वविद्यालय की टीना गनहोल्ड और उनके साथियों ने मार्मोसेट पर एक अध्ययन किया। इसमें उन्होंने मार्मोसेट की एक फिल्म बनाई, जब वह एक प्लास्टिक उपकरण में से जुगाड़ करके कोई खाने की चीज निकाल रहा था। इसके बाद उन्होंने अटलांटिक जंगल में रहने वाले मार्मोसेट बंदरों को यह वीडियो दिखाया। यह देखा गया है कि युवा बंदर अपने ही सामाजिक समूह से सीखने में कुशल होते हैं। मगर इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है कि क्या वे अजनबियों से भी सीख सकते हैं। मार्मोसेट इलाका बनाने वाले प्राणी हैं। इसलिए संभव है कि बाहर से आने वाले किसी अन्य प्राणी को बर्दाश्त न करें और हमला कर दें। यहां तक कि पर्दे पर दिखाए जाने वाले अजनबी से भी उनका व्यवहार ऐसा ही हो सकता है।

गनहोल्ड का कहना है कि हम यह नहीं जानते थे कि मार्मोसेट वीडियो बाक्स का क्या करेंगे, क्या उसे तोड़ देंगे? लेकिन इसका उल्टा हुआ। वे सब इसकी तरफ आकर्षित हुए। मार्मोसेट इस वीडियो को देखकर उसकी तरह व्यवहार करने की कोशिश कर रहे थे। इस वीडियो बाक्स के आसपास वयस्क बंदरों की अपेक्षा कम उम्र के बंदर ज्यादा मंडरा रहे थे और उनमें से एक ने तो वीडियो पर दिखाए गए काम को अंजाम भी दे दिया। मगर एक बंदर ने जब यह काम वीडियो देखकर सीख लिया तो उसके बाद कहना मुश्किल है कि बाकियों ने वह काम वीडियो देखकर सीखा था या अपने साथियों से। गनहोल्ड का कहना  है कि इस तकनीक का उपयोग कई तरह से किया जा सकता है। जैसे उनके प्राकृतिक आवास में देखा जा सकता है कि क्या बंदर अपने से प्रभावी समूह की बजाय अपने अधीन समूह का वीडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं।

लेख पर अपने विचार लिखें ( 0 )                                                                                                                                                                     
 

भारत के समाचार पत्रों के पंजीयक कार्यालय की पंजीयन संख्या( आर. एन. आर्इ. नं.) : 7087498, डाक पंजीयन : छ.ग./ रायपुर संभाग / 26 / 2012-14
संपादक - ललित कुमार सिंघानिया, संयुक्त संपादक - रविन्द्र गिन्नौरे, सह संपादक - उत्तम सिंह गहरवार, सलाहकार - डा. सुरेन्द्र पाठक, महाप्रबंधक - राजकुमार शुक्ला, विज्ञापन एवं प्रसार - देवराज सिंह चौहान, लेआउट एवं डिजाइनिंग -उत्तम सिंह गहरवार, विकाष ठाकुर
स्वामित्व, मुद्रक एवं प्रकाषक : एनवायरमेंट एनर्जी फाउडेषन, 28 कालेज रोड, चौबे कालोनी, रायपुर (छ.ग.) के स्वामित्व में प्रकाषित, महावीर आफसेट प्रिंटर्स, रायपुर से मुदि्रत, संपादक - ललित कुमार सिंघानिया, 205, समता कालोनी, रायपुर रायपुर (छ.ग.)

COPYRIGHT © BY PARYAVARAN URJA TIMES
DEVELOPED BY CREATIVE IT MEDIA